कोरोना वायरस के दौर में डिजिटल पेरेंटिंग के लिए 6 कदम

कोरोना वायरस के आने से हम सबको बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और इसमें बच्चे सबसे ज़्यादा प्रभावित हैं। स्कूल बंद हो चुके हैं, बाहर खेल नहीं सकते, और घर पर बंद होकर रह गए हैं। और मुश्किल घड़ी में यह डिजिटल पेरेंटिंग टिप्स आपकी ज़िन्दगी में एक ऐसा किरदार निभाएगी जिससे आपको फायदा होगा।

हमारे पास ऐसी 6 टिप्स हैं जो आप घर पर रहकर कर सकते हैं।

कोरोना वायरस के दौर में डिजिटल पेरेंटिंग के लिए 6 कदम

1. अपना सबसे ज़्यादा वक़्त अपनों के साथ बिताएँ:
सोचिये, यह एक ऐसी घडी है जब आपका परिवार और सब साथ है, किसी को काम पर जाने की जल्दी नहीं है, बच्चों को स्कूल नहीं जाना। आप इस बीच बहुत कुछ कर सकते हैं और यक़ीन जानिए यह रोमांचक भी है। आप जादूई खेल सीख सकते है और बच्चों के साथ खेल सकते हैं, किताबें भी पढ़ सकते हैं, (टिप: अपने बचपन की पसंदीदा किताबें लीजिये, और बच्चों को उन किरदारों से मिलाइये जिनको वह जानते नहीं जैसे चाचा चौधरी, फैंटम ).

2. कोरोनावायरस2019 के बारें में पढ़िए:
जानने की कोशिश कीजिये कि आपके बच्चे कोरोना वायरस के बारे में क्या जानते हैं। अगर वह बहुत छोटे हैं और उनके मन में सवाल हैं तो उन सवालो का हल निकालिये और जवाब दीजिये। हो सकता है आपके पास जवाब न हों, तो WHO पर सवालो के जवाब ढूंढिए और बच्चों को इसमें साथ जोड़िये, विश्वसनीय जानकारी के लिए यह सबसे अच्छा स्त्रोत है।

3. ज़्यादा खबरें ना देखें:
पूरी दुनिया इस बीमारी से लड़ रही है, और हर न्यूज़ चैनल पर चाहे वह हिंदी हो या इंग्लिश सब पर कोरोना वायरस की खबरें दिखाई जा रही हैं; जैसे कितने लोग इससे बीमार हो रहे हैं, कितने लोग इससे अब तक अपनी जान गवा बैठे हैं। कहने का मक़सद है कि अगर आप पूरे दिन ऐसी खबरें देखेंगे तो इससे आपकी सेहत पर असर पड़ेगा और तनाव उत्पन्न होगा। दिन में सिर्फ एक बार खबर देखें और रात में एक बार। और अगर छोटे बच्चों को ख़बर को लेके कोई सवाल हो तो उनको समझाएं।

4. पॉजिटिव रहें:
ऐसी स्तिथि में आप नकरात्मक हो सकते हैं। लेकिन पॉजिटिव रहकर आप खुदको और अपने परिवार को अच्छा, स्वस्थ और खुशहाल रख सकते हैं। हर सुबह की शुरुआत इस सोच से करें कि हम किसी न किसी समाधान के नजदीक हैं, एक सकरात्मक नियमित दिनचर्या बनाएं जिसमे योग, व्यायाम और मज़ाक मस्ती को जोड़ें। काम पर असर पढ़ना आम बात है लेकिन हम समाधान निकल ही लेते हैं।

5. एक समय सूची बनाएं:
आपको एक ऐसी सूची बनानी है जिसमे आपको उन चीज़ो को जोड़ना है जो आपको खुश और पॉजिटिव रखने में मदद करती हैं। अपने दिन की शुरुआत व्यायाम से करें, उसके बाद सुबह का नाश्ता, उसके बाद पढ़ाई और आगे जो भी आप चाहें। आपको समय सूची बनाने में कुछ वक़्त लगेगा, लेकिन बनने के बाद यह आपकी बहुत मदद करेगा। लेकिन यह एक बहुत कारगर गतिविधि है, आप यह खुश रखने वाली समय सूची रोज़ बना सकते हैं।

6. तनाव का कम करें:
जैसे की अपने सुना होगा फिल्मो में की जब एक विमान उड़ता है तो उससे पहले पायलट कहता है "अपनी कुर्सी की पेटी बांध लें", यही बात तनाव में भी लागू होती है। परिवार वालो को तनाव से दूर रखने के लिए आपको खुद तनाव मुक्त होना होगा। इसका आसान तरीका है, इसके लिए अपने आप पर थोड़ा समय लगाइये। आप अपने बच्चों के लिए हमेशा तैयार रहे और उनकी बात सुनें, इस बात को जाने की वह कैसा महसूस करते हैं और उन्हें आराम दें।